फिल्म जिला गोरखपुर का पोस्टर रिलीज होते ही विवाद शुरू, निर्माता-निर्देशक पर केस दर्ज Other, मनोरंजन

उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कथित बायोपिक जिला गोरखपुर फिल्म का पोस्टर रिलीज होते ही विवाद शुरू हो गया है। मेरठ में भाजपा विधायक सोमेंद्र तोमर ने मेडिकल थाने में फिल्म के निर्माता-निर्देशक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। एसएसपी के आदेश पर निर्देशक को नामजद करते हुए धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने की धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है।

जिला गोरखपुर नाम से एक फिल्म का पोस्टर सोमवार को रिलीज किया गया। इस पोस्टर में एक व्यक्ति को भगवा कपड़े पहने और हाथ में रिवाल्वर लिए खड़े दिखाया गया है। पास ही एक गाय भी खड़ी दिखाई गई है, सामने मंदिर है। इस पोस्टर के रिलीज होते ही विवाद शुरू हो गया। इस मामले में मेरठ दक्षिण से भाजपा विधायक सोमेंद्र तोमर ने आपत्ति जताते हुए एक तहरीर एसएसपी मेरठ को दी। तहरीर में आरोप लगाया गया कि फिल्म के निर्माता निर्देशक ने धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का काम किया है। जिस तरह से पोस्टर को दिखाया गया है, उससे समाज में गलत संदेश जाता है। पोस्टर से समाज को बांटने और हिन्दुत्व को लेकर गलत संदेश देने का प्रयास किया जा रहा है। इस तहरीर पर एसएसपी ने मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया। इसके बाद रात को ही मेडिकल थाने में फिल्म के निर्माता निर्देशक विनोद तिवारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

वहीं, दूसरी ओर फिल्म के डायरेक्टर विनोद तिवारी ने सोशल मीडिया पर बयान जारी करके जानकारी दी है कि वे इस फिल्म को नहीं बनाएंगे। उन्होंने कहा है कि फिल्म को गलत तरीके से देखा जा रहा है, जबकि ऐसा कुछ नहीं है। 

ये धाराएं बढ़ सकती हैं-
पुलिस अधिकारियों की मानें तो इस मामले में पुलिस मानहानि, बलवा कराने की साजिश समेत कई अन्य धाराएं बढ़ाई जा सकती हैं। पुलिस इस मामले में सरकारी वकील और महाधिवक्ता से सलाह ले रही है।

Leave a Reply