Lt Grade Teacher Recruitment 2018: इन सवालों में उलझे एलटी ग्रेड अभ्यार्थी Other, राष्ट्रीय

इंटर कॉलेजों में सहायक अध्यापक के पद पर भर्ती के लिए रविवार को एलटी ग्रेड भर्ती परीक्षा का आयोजन किया गया। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) ने राजधानी में 159 केंद्र बनाए थे। जहां पर पंजीकृत अभ्यर्थियों में से पचास फीसदी परीक्षार्थी ने ही परीक्षा दी। अन्य पचास फीसदी अभ्यर्थी अनुपस्थित रहे। परीक्षार्थियों के मुताबिक पेपर कठिन और काफी लंबा था। ऐसे में उसे हल करने में समय की कमी रही। 

कड़ी सुरक्षा व्यवस्था और सख्ती के साथ सुबह 11:30 बजे परीक्षा शुरू हुई। परीक्षा के लिए केवल दो घंटे का समय दिया गया था। दोपहर डेढ़ बजे परीक्षा समाप्त हो गई। प्रश्न पत्र के एक सेक्शन में जीएस व सामान्य ज्ञान के प्रश्न पूछे गए तो दूसरे अलग-अलग सेक्शन में विषय से संबंधित सवाल आए। इसमें अर्थशास्त्र, भूगोल, इतिहास, पॉलिटी  और हिंदी विषय शामिल रहा। 

अभ्यर्थियों ने बताया कि प्रश्न पत्र में इतिहास के सवाल सामान्य थे। इसलिए वह आसानी से हल कर लिया गया जबकि भूगोल और इतिहास के सवाल काफी कठिन थे। ऐसे में अभ्यर्थी इन विषयों से परेशान रहे। इसके अलावा जीएस व सामान्य ज्ञान के सवालों में भी काफी उलझे। इस तरह से अधिकतर अभ्यर्थियों ने ओवरऑल प्रश्न पत्र को कठिन बताया। 

मिलीजुली रही प्रतिक्रिया
अभ्यर्थियों ने अर्थशास्त्र के सवालों पर अलग-अलग प्रतिक्रिया दी। कुछ अभ्यर्थियों का कहना था जिनका बेसिक अच्छा तैयार होगा उसके लिए अर्थशास्त्र के सवाल आसान रहे होंगे। वहीं अन्य के लिए ये प्रश्न कठिन साबित हुए। इस तरह से अर्थशास्त्र के सेक्शन पर अभ्यर्थियों ने मिलीजुली प्रतिक्रिया दी। 

कम समय से परेशान हुए अभ्यर्थी 
प्रश्न पत्र में डेढ़ सौ प्रश्न थे। निगेटिव मार्किंग भी थी। जबिक प्रश्न पत्र हल करने के लिए सिर्फ दो घंटे का समय दिया गया। इस तरह से एक सवाल को हल करने के लिए एक मिनट से भी कम समय दिया गया। अधिकतर अभ्यर्थियों का कहना था कि पेपर काफी लंबा था, जबकि उसकी अपेक्षा समय काफी कम। बहुत से अभ्यर्थी पूरा पेपर तक हल नहीं कर सके। इससे अभ्यर्थी काफी निराश व आक्रोशित दिखाई दिए। 

 गैर हाजिर रहे 36 हजार अभ्यर्थी
सहायक अध्यापक (एलटी ग्रेड) की प्रतियोगी परीक्षा से रविवार को आधे अभ्यर्थी गायब रहे। 74 हजार रजिस्टर्ड अभ्यर्थियों में से 36 हजार 267 हजार अभ्यर्थी गैरहाजिर रहे। परीक्षा में 38 हजार 129 परीक्षार्थी शामिल हुए।  परीक्षा के प्रभारी नोडल एडीएम (आपूर्ति) चंद्रप्रकाश ने बताया कि परीक्षा को शांति पूर्ण ढंग से सम्पन्न हुई। 

Leave a Reply