BREAKING NEWS

UP: कासगंज के गोल्ड लोन घोटाले में बैंक मैनेजर सस्पेंड, ऐसे हुआ खुलासा

48

केनरा बैंक में गोल्ड लोन घोटाले की जांच में सौ खातों से नकली सोना निकलने का खुलासा हुआ है। घोटाले में जेल गए केनरा बैंक के मैनेजर मनोज कुमार को सस्पेंड कर दिया गया है।

24 जून को पुलिस प्रशासन के सामने आए जनपद की सिढ़पुरा स्थित केनरा बैंक में गोल्ड लोन घोटाला सामने आया था। बैंक के गोल्ड लोन वैल्युअर राहुल देव ने तत्कालीन बैंक प्रबंधक मनोज कुमार्र सिंह को गिरफ्तार कर लिया था। बैंक के आला अधिकारियों ने मैनेजर मनोज कुमार को सस्पेंड कर दिया है। लीड बैंक प्रबंधक महेश प्रकाश ने बताया कि 162 खातों में से करीब सौ खातों में नकली सोना निकला है।

बैंक में हुए गोल्ड लोन के मामले में डीएम आरपी सिंह ने तीन सदस्यीय जांच टीम से रिपोर्ट मांगी है। इस मामले में बैंक में पहले से ही ऑडिट जांच चल रही है, जिसके शुरूआती ऑडिट में गोल्ड लोन में गड़बड़ी के मामले पकड़ में आए थे।
बैंक के गोल्ड लोन वैल्युअर राहुल देव ने तत्कालीन बैंक प्रबंधक मनोज कुमार्र सिंह के साथ मिलकर किसानों के नाम गोल्ड लोन कराये थे। जिनके खातों में असली की जगह नकली सोना रखे जाने के आरोपों की किसानों की ओर से रिपोर्ट दर्ज कराई थी। एक के बाद एक धोखाधड़ी के 11 पीड़ित खातेधारकों की ओर से थाने में तहरीर दी गई।

जिन्हें मुकदमे में शामिल किया गया। इस मामले में सिढ़पुरा पुलिस ने पहले राहुल और फिर मैनेजर मनोज कुमार को गिरफ्तार कर लिया था। जिला प्रशासन की ओर सहावर एसडीएम कृपा शंकर पांडेय के नेतृत्व में लीड बैंक प्रबंधक महेश प्रकाश एवं कोषाधिकारी संदीप वर्मा की टीम को जांच सौंपी। तीन सदस्यीय जांच समिति अभी अपनी जांच कर रही है। 100 खातों में नकली सोना होने के संबंध में लीड बैंक प्रबंधक महेश प्रकाश ने बताया कि जांच पूरी होने के बाद और स्थिति साफ होगी।

डीएम आरर्पी सिंह का कहना है कि अधिकारियों की तीन सदस्यीय जांच टीम केनरा बैंक के गोल्ड लोन प्रकरण में मिली गड़बड़ी की जांच कर रही है, जांच रिपोर्ट मांगी गई है, जल्द ही जांच रिपोर्ट प्रशासन को प्राप्त होगी, इसके बाद आगे की कार्रवाई तय की जाएगी।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *