BREAKING NEWS

ENGvsIND: टीम इंडिया के गेंदबाजों से बोले रहाणे – तुम ‘इतना’ बस रखना खयाल!

46

भारतीय टीम के उपकप्तान अंजिक्य रहाणे ने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज शुरू होने से पहले टीम के गेंदबाजों को नसीहत दी है। रहाणे का कहना है कि इंग्लैंड के बदलते मौसम में 20 विकेट लेना गेंदबाजों के लिए आसान नहीं होने वाला है। इसलिए उन्हें धैर्य रखना होगा। साथ ही उन्होंने कहा कि इंग्लैंड की बल्लेबाजी काफी अच्छी है और हमारे गेंदबाजों को वे इतनी आसानी से अपना विकेट नहीं देने वाले। गौरतलब है कि भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज की शुरुआत एक अगस्त से बर्मिंघम में हो रही है। 

‘धैर्य रखकर गेंदबाजी करनी होगी’
पहले मैच के शुरू होने से दो दिन पहले रहाणे ने कहा, ‘इंग्लैंड में गेंदबाजों को हमेशा मदद मिलती है। लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि यह सीरीज गेंदबाजों के लिए आसान होने वाला है। उन्हें धैर्य रखना होगा और सही स्थान पर गेंदबाजी करनी होगी। उन्हें दोनों छोर से विकेट लेने की कोशिश करने की जगह अपने कौशल से खेलना होगा।’ उन्होंने कहा, ‘अगर एक गेंदबाज ठीक से सहायक की भूमिका निभाता है तो इससे विकेट लेना आसान हो जाता है। सफलता के लिए धैर्य के साथ एक लाइन लेंथ से गेंदबाजी करनी जरूरी हैं।’

‘गेंदबाजों पर ज्यादा दबाव नहीं बनाना है’
रहाणे ने कहा, ‘हमारे गेंदबाजों के पास यह साबित करने का अच्छा मौका है कि वे टेस्ट मैचों में नियमित तौर पर 20 विकेट ले सकते हैं, जैसा उन्होंने दक्षिण अफ्रीका में किया था। किसी ने यह उम्मीद नहीं की होगी कि वे तीनों टेस्ट मैचों में 20 विकेट लेंगे।’ भारतीय उपकप्तान ने कहा, ‘इसके साथ ही हमें गेंदबाजों पर अतिरिक्त दबाव नहीं बनाना चाहिए और उन्हें खेल का लुत्फ उठाने देना चाहिए। उन्हें खुद का समर्थन करना चाहिए और यह सोचना चाहिए की भारतीय गेंदबाजी आक्रमण दुनिया में सर्वश्रेष्ठ है।’ 

‘टीम को भुवनेश्वर की कमी नहीं खलेगी’
रहाणे को लगता है कि भुवनेश्वर कुमार की गैरमौजूदगी में भी भारतीय गेंदबाजी आक्रमण काफी मजबूत है। उन्होंने कहा, ‘हमारे तेज गेंदबाज काफी अनुभवी हैं। मोहम्मद शमी और उमेश यादव 2014 के दौरे पर भी टीम के साथ इंग्लैंड आए थे। वे हमारे लिए भारत में और भारत से बाहर शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका में उन्होंने 60 विकेट लिए और बेहद ही शानदार गेंदबाजी की। टीम में इशांत शर्मा भी है, जिन्होंने हाल फिलहाल में इंग्लैंड में काउंटी क्रिकेट खेली है। वह यहां की परिस्थितियों से भलीभांति परिचित हो चुके हैं।’




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *